Truth Manthan

जीवन की कीमत (Value of Life), एक प्रेरक कहानी

Spread the love

एक दिन एक बेटा अपने पिता के पास जाता है और पिता से कहता हैं कि मेरे जीवन का मूल्य क्या है। पिता ने उसे एक कीमती पत्थर दिया और कहा बेटा यदि आप अपने जिन्दगी का मूल्य जानना चाहते हैं तो इस पत्थर को ले लो और बाज़ार में जाओ। अगर कोई भी क़ीमत पूछे तो बोलना मत सिर्फ दो उंगलियों को उठा देना। लड़के ने वैसा ही किया जैसा उसके पिता ने का कहा था।

बाजार में वह इधर-उधर भटकता है और अचानक एक बूढ़ी औरत उसके पास आती है और कहती है कि इस पत्थर का मूल्य क्या है। लड़का कुछ नहीं बोलता सिर्फ़ दो उंगलियों उठा देता है। महिला कहती है कि 2 डॉलर में मैं इसे ले सकती हूँ और चली जाती है। बेटा आश्चर्यचकित हो जाता है और वापस अपने पिता के पास आकर पूरी घटना बताता है।

इसके बाद पिता बेटे को वही पत्थर देता है और कहता है कि इस बार तुम संग्रहालय जाओ। अगर इस बार भी कोई मूल्य पूछे तो बोलना नहीं और दो उंगुलियां उठा देना। बेटा पत्थर को लेकर संग्रहालय जाता है। लगभग बीस मिनट के बाद संग्रहालय में
एक सूट में एक अधेड़ उम्र का एक आदमी आता है। जो लड़के के पास आता है वह कहता है कि सर कैसे हैं। इस पत्थर का मूल्य क्या है। लड़का कुछ बोले बिना दो उंगुलियां उठता है। आदमी कहता है मैं इसे $ 200 में ले लूँगा। लड़का आश्चर्यचकित हो जाता है। वह लड़का अपने पिता के पास आता है और सारी कहानी बताता है।

इस बार बेटे का पिता कहता है कि आज मैं फिर वही पत्थर दे रहा हूँ। इसे लेकर कीमती पत्थर वाली दूकान पर जाओ। लेकिन ध्यान रखना बोलना इस बार भी नहीं है सिर्फ दो उंगुलियां उठाना है। बेटा कीमती पत्थर की दूकान खोजता है और अन्दर चला जाता है। और पत्थर को उछालता है। सामने काउंटर पर बैठा बूढ़ा आदमी यह देख कर चिल्लाता है। बेटा तुम्हारे पास जो पत्थर है उससे मेरा जीवन कट जाएगा। बूढ़ा आदमी लड़के से उस पत्थर की कीमत पूछता है तो लड़का दो उंगुलियां उठा देता है। बूढ़ा आदमी कहता है मैं इसे $ 200,000 में ले लूंगा। बेटा वहां से भागता हुआ आता है और बताता है कि आज इस पत्थर की कीमत एक बूढ़ा व्यक्ति $ 200,000 दे रहा था।

पिता कहता है बेटा शायद तुम अब अपने जीवन का मूल्य समझ गए होगे। ये आप पर निर्भर करता है कि आप अपने जीवन की मूल्य २ डॉलर रख सकते हो या $ 200,000 डॉलर। कुछ लोग तुम्हें प्यार करते हैं उनके लिए तुम सब कुछ हो और कुछ लोग आपका सिर्फ उपयोग करेंगे और फेंक देंगे। इस लिए यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने जीवन का मूल्य क्या रखना चाहते है। इसे तुम्हे खुद ही तय करना होगा। बेटा शायद आपने अपने जीवन का मूल्य तय कर लिया होगा। इसके लिए धन्यवाद।


Spread the love

118 thoughts on “जीवन की कीमत (Value of Life), एक प्रेरक कहानी”

  1. Hi! I’m at work surfing around your blog from my new apple iphone!
    Just wanted to say I love reading your blog and look forward to all your posts!
    Carry on the superb work!

Leave a Comment