Truth Manthan

अपनाए ये उपाय कितने भी जहरीले सांप ने काटा हो बच जायेगी जान

Spread the love

बरसात का मौसम आते ही सांपों का खतरा बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है। क्योंकि बरसात के मौसम में भारी संख्या में कीड़े मकोड़े आ जाते हैं। और उन्हें अपना शिकार बनाने के लिए सांप भी अपने बिलों से बाहर निकलते हैं। सांप कभी-कभी इंसानों के घरों को भी अपना घर बना लेते हैं। और ऐसे में उन पर किसी तरह का दबाव या छेड़खानी करने से वह इंसान को काट लेते हैं। जिससे इंसान की मौत तक हो सकती है। भारत में सैकड़ों प्रकार की सांपों की प्रजातियां पाई जाती हैं किंतु कुछ प्रजातियां ही ऐसी है जो जहरीली होती हैं।

जिनके काटने से इंसान की मृत्यु तक हो जाती है। ज्यादातर व्यक्ति सांप काटने से डर के कारण मर जाते हैं। सांप चाहे जहरीला बिल्कुल भी ना हो लेकिन व्यक्ति के अंदर यह डर उत्पन्न हो जाता है कि उसे जहरीले सांप ने काटा है जिससे उसकी मौत हो जाती है। आज भी हमारे गांवों में 65 से 70 पर्सेंट आबादी रहती है। जिसमें से भारी संख्या में आबादी सांप के काटने पर झाड़-फूंक या किसी पौधे की पत्तियों को लगाने इत्यादि पर ज्यादा विश्वास करते हैं। इस स्थिति में देर हो जाने से इंसान की मृत्यु हो जाती है। अगर किसी भी व्यक्ति को जहरीले सांप ने काट लिया है तो सबसे पहले उसे सांप द्वारा काटे गए स्थान को किसी कपड़े या पट्टी से धीरे धीरे लपेट लेना चाहिए।

याद रखें सांप काटने के बाद उस स्थान को बहुत तेजी से न बांधें और न हीं टीका- चीरा इत्यादि लगाएं। ज्यादा तेजी से बांधे जाने पर जैसे ही व्यक्ति अस्पताल जाता है और उसके बांधे गए स्थान को ढीला किया जाता है तो बहुत तेजी से ब्लड सरकुलेशन बढ़ता है। जिसके चलते कुछ ही सेकंड में जहर दिल और दिमाग दोनों तक पहुंच जाता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर को भी मरीज को बचाने में काफी परेशानियां हो सकती हैं। सांप को काटने के बाद उस स्थान को आहिस्ता-आहिस्ता बांधे ताकि रक्त का परिवहन धीरे-धीरे चलता रहे और धीरे-धीरे शरीर में जहर फैले।

जब हम बांधे गए स्थान को छोड़ेंगे तो अचानक से सांप का विष शरीर में तेजी से नहीं फैलेगा और व्यक्ति की 100% तक जान बचने की पूरी उम्मीद बनी रहेगी। सांप काटने के बाद किसी भी तरह की झाड़-फूंक या किसी बाबा के चक्कर में बिल्कुल भी न फंसे। सांप के काटने ही तत्काल पीड़ित को सरकारी अस्पताल ले जाएं जहां उसका अच्छी तरह से उपचार हो सके और व्यक्ति की जान बचाई जा सके।

झाड़-फूंक में पड़ने से इंसान को कोई नहीं बचा सकता। इसलिए सांप काटने के बाद सीधे सरकारी अस्पताल या जिला अस्पताल ले जाएं ताकि व्यक्ति की जान बच सके।


Spread the love

92 thoughts on “अपनाए ये उपाय कितने भी जहरीले सांप ने काटा हो बच जायेगी जान”

  1. Awesome blog! Do you have any hints for aspiring writers?
    I’m hoping to start my own site soon but I’m a little lost on everything.
    Would you recommend starting with a free platform
    like WordPress or go for a paid option? There are so many choices out there that I’m completely overwhelmed ..
    Any recommendations? Thanks a lot!

  2. Superb post however , I was wondering if you could write a litte more on this subject?
    I’d be very thankful if you could elaborate a little bit more.
    Appreciate it!

  3. Having read this I believed it was extremely informative.
    I appreciate you finding the time and energy to put this informative article together.
    I once again find myself personally spending a significant amount of time both reading and leaving comments.
    But so what, it was still worthwhile!

  4. Having read this I believed it was really informative.

    I appreciate you finding the time and effort to put this short article together.
    I once again find myself spending a lot of
    time both reading and posting comments. But so what, it was still worthwhile!

  5. I’m curious to find out what blog platform
    you are using? I’m having some small security issues with my latest
    website and I’d like to find something more safe.

    Do you have any solutions?

  6. I’m truly enjoying the design and layout of your site. It’s a very easy on the eyes which
    makes it much more enjoyable for me to come here and visit more often. Did you hire out
    a developer to create your theme? Fantastic work!

  7. “I haven’t seen you in these parts,” the barkeep said, sidling over and above to where I sat. “Name’s Bao.” He stated it exuberantly, as if solemn word of honour of his exploits were shared by settlers hither many a fire in Aeternum.

    He waved to a expressionless hogshead upset us, and I returned his gesticulate with a nod. He filled a field-glasses and slid it to me across the stained red wood of the excluding before continuing.

    “As a betting chains, I’d be delighted to wager a fair piece of invent you’re in Ebonscale Reach for the purpose more than the swig and sights,” he said, eyes glancing from the sword sheathed on my cool to the capitulate slung across my back.

    https://maps.google.gp/url?q=https://renewworld.ru/

  8. Hi there would you mind letting me know which web host you’re utilizing?

    I’ve loaded your blog in 3 completely different browsers and I must say this blog loads a lot
    quicker then most. Can you recommend a good internet hosting provider at a honest
    price? Many thanks, I appreciate it! scoliosis surgery https://0401mm.tumblr.com/ scoliosis surgery

Leave a Comment