Truth Manthan

अपनाए ये उपाय कितने भी जहरीले सांप ने काटा हो बच जायेगी जान
Spread the love

बरसात का मौसम आते ही सांपों का खतरा बहुत ही ज्यादा बढ़ जाता है। क्योंकि बरसात के मौसम में भारी संख्या में कीड़े मकोड़े आ जाते हैं। और उन्हें अपना शिकार बनाने के लिए सांप भी अपने बिलों से बाहर निकलते हैं। सांप कभी-कभी इंसानों के घरों को भी अपना घर बना लेते हैं। और ऐसे में उन पर किसी तरह का दबाव या छेड़खानी करने से वह इंसान को काट लेते हैं। जिससे इंसान की मौत तक हो सकती है। भारत में सैकड़ों प्रकार की सांपों की प्रजातियां पाई जाती हैं किंतु कुछ प्रजातियां ही ऐसी है जो जहरीली होती हैं।

जिनके काटने से इंसान की मृत्यु तक हो जाती है। ज्यादातर व्यक्ति सांप काटने से डर के कारण मर जाते हैं। सांप चाहे जहरीला बिल्कुल भी ना हो लेकिन व्यक्ति के अंदर यह डर उत्पन्न हो जाता है कि उसे जहरीले सांप ने काटा है जिससे उसकी मौत हो जाती है। आज भी हमारे गांवों में 65 से 70 पर्सेंट आबादी रहती है। जिसमें से भारी संख्या में आबादी सांप के काटने पर झाड़-फूंक या किसी पौधे की पत्तियों को लगाने इत्यादि पर ज्यादा विश्वास करते हैं। इस स्थिति में देर हो जाने से इंसान की मृत्यु हो जाती है। अगर किसी भी व्यक्ति को जहरीले सांप ने काट लिया है तो सबसे पहले उसे सांप द्वारा काटे गए स्थान को किसी कपड़े या पट्टी से धीरे धीरे लपेट लेना चाहिए।

याद रखें सांप काटने के बाद उस स्थान को बहुत तेजी से न बांधें और न हीं टीका- चीरा इत्यादि लगाएं। ज्यादा तेजी से बांधे जाने पर जैसे ही व्यक्ति अस्पताल जाता है और उसके बांधे गए स्थान को ढीला किया जाता है तो बहुत तेजी से ब्लड सरकुलेशन बढ़ता है। जिसके चलते कुछ ही सेकंड में जहर दिल और दिमाग दोनों तक पहुंच जाता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टर को भी मरीज को बचाने में काफी परेशानियां हो सकती हैं। सांप को काटने के बाद उस स्थान को आहिस्ता-आहिस्ता बांधे ताकि रक्त का परिवहन धीरे-धीरे चलता रहे और धीरे-धीरे शरीर में जहर फैले।

जब हम बांधे गए स्थान को छोड़ेंगे तो अचानक से सांप का विष शरीर में तेजी से नहीं फैलेगा और व्यक्ति की 100% तक जान बचने की पूरी उम्मीद बनी रहेगी। सांप काटने के बाद किसी भी तरह की झाड़-फूंक या किसी बाबा के चक्कर में बिल्कुल भी न फंसे। सांप के काटने ही तत्काल पीड़ित को सरकारी अस्पताल ले जाएं जहां उसका अच्छी तरह से उपचार हो सके और व्यक्ति की जान बचाई जा सके।

झाड़-फूंक में पड़ने से इंसान को कोई नहीं बचा सकता। इसलिए सांप काटने के बाद सीधे सरकारी अस्पताल या जिला अस्पताल ले जाएं ताकि व्यक्ति की जान बच सके।


Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top