Truth Manthan

Poem

Salvation and Set of Troubles मन को शांति देने वाली दो कवितायें

Salvation and Set of Troubles मन को शांति देने वाली दो कवितायें

Everyone attains salvation but no one tries to improve their deeds. Moksha is nothing, it is called Moksha to succeed and die in life. Troubles in life remain. Sometimes it comes in which human being gets stuck in the scene of troubles and only the person who goes through these troubles is successful in the …

Salvation and Set of Troubles मन को शांति देने वाली दो कवितायें Read More »

Krishna and Daughter दो कवितायें

Krishna को हमारे देश में भगवान माना जाता है. भगवान krishna की सारे हिन्दुस्तान में पूजा होती है. हिन्दू धर्म में krishna को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है.आज इस लेख में मैं हमारे पाठकों की दो कविताओं krishna और “रूठी है बिटिया हमारी” नाम की दो कवितायें आपको प्रस्तुत कर रहा जो आपको …

Krishna and Daughter दो कवितायें Read More »

Coronavirus सहित तीन कवितायें

Coronavirus सहित तीन कवितायें

नव भारत का निर्माण  राष्ट्रप्रेम के भाव बिना, यह काया है किस काम की। नव भारत का निर्माण करो, ये मांग है हिंदुस्तान की ।। सदियों से भारतवासी को,यह पाठ पढ़ाया जाता है। अपनी छोड़ो,जग की सोचो,शपथ विश्वकल्याण की।। लेकिन- कब तक इस जग की सोचोगे,भारत के बारे में सोचो। विश्वास भरे बस कर्म करो,छूलो …

Coronavirus सहित तीन कवितायें Read More »

मन की आवाज

मन की आवाज

ऐसा वक्त आ गया है किसी का भला करना भी जुर्म हो गया है। तुच्छ इच्छओं के लालच में मन और धन का सौदा के लिए तैयार हो गया है। उन ऊंची मीनारों की जमीं तले अब मानवीय संवेदनाओं का दफन हो गया है। आज इंसान रफ्तार की दोंड़ं में इस जीव जगत में सबसे …

मन की आवाज Read More »

पौधे का डर

पौधे का डर

सावन की फुलझड़ी उठी और बादल भी मंडराया पौधों की पंखुड़ियों से प्यार नजर तब आया एक फूल मुझसे बोला क्या ऐसा ही है भारत मैंने उससे कहा नहीं यह सावन का है मौसम आता जाता हर मौसम यहां सब को खुश करता है बच्चों से किसान को लेकर सब को खुश करता है एक …

पौधे का डर Read More »

मुझे अच्छा नही लगता, हास्य कविता

मुझे अच्छा नही लगता, हास्य कविता

  मैं रोज़ खाना पकाती हू, तुम्हे बहुत पयार से खिलाती हूं, पर तुम्हारे जूठे बर्तन उठाना मुझे अच्छा नही लगता। कई वर्षो से हम तुम साथ रहते है, लाज़िम है कि कुछ मतभेद तो होगे, पर तुम्हारा बच्चों के सामने चिल्लाना मुझे अच्छा नही लगता। हम दोनों को ही जब किसी फंक्शन मे जाना …

मुझे अच्छा नही लगता, हास्य कविता Read More »

मन की सोच बदल देने वाली 3 कवितायें

मन की सोच बदल देने वाली 3 कवितायें

सोच मैं अपने मन में सोच रहा यह दुनिया अजब निराली है कुछ व्यक्ति यहां पर ऐसे हैं जो सब कुछ अपना समझते हैं कुछ व्यक्ति यहां पर ऐसे हैं जो रोटी को भी दिन भर तरसते हैं मैंने कुछ अपने मन से कहा तुझको भी कुछ तो करना है आखिर इस देश में जन्म …

मन की सोच बदल देने वाली 3 कवितायें Read More »

Scroll to Top