Truth Manthan

Hindi Stories

Conscience – fear thousands of years old (अंतर्मन – डर हजारों साल पुराना)

आरती की नई-नई शादी हुई थी। उसे उसका जीवनसाथी बहुत थी प्यार करने वाला मिला था। वह दोनों आपस में बहुत ही घुले मिले रहते थे। आरती ने जैसे पति की कल्पना की थी उसे मनोज वैसा ही पति मिला था। आरती और मनोज एक ऐसी जिंदगी जी रहे थे जिसमें सिर्फ खुशियां थीं। दुख …

Conscience – fear thousands of years old (अंतर्मन – डर हजारों साल पुराना) Read More »

Residency – A True Ghost Tale That Stands up (Hindi)

लखनऊ की रेज़ीडेंसी में, सन् 1857 ईसवी में, अंग्रेज़ों और भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के सेनानियों में भयानक युद्ध हुआ था। दोनों पक्षों के, सैकड़ों लोग इस जंग में जान से हाथ धो बैठे थे। आज, उसी भयावह घटना से सम्बन्धित भूतकथा भेज रहा हूं। अभी शाम का झुटपुटा है। जैसे-जैसे रात गहराती है, भूतों की …

Residency – A True Ghost Tale That Stands up (Hindi) Read More »

Kisan- जून की धूप कहानी

Kisan- “जून की धूप” Hindi Kahani

जून का महीना था चिलचिलाती धूप में हरिया अपने मन में बड़बड़ाता हुआ जा रहा था। धूप इतनी तेज थी की जमीन भी आग सी तप रही थी। हरिया के पैर में चप्पल भी नहीं थी। वह नंगे पैर लंबे-लंबे पगों से आगे बढ़ता जा रहा था। उसको अपनी नहीं बल्कि अपने खेतों की बहुत …

Kisan- “जून की धूप” Hindi Kahani Read More »

Hamari Adhuri Kahani तीन कहानियां

Hamari Adhuri Kahani – तीन कहानियां

Hamari Adhuri Kahani जिंदगी का सबसे दर्द है। जिसका आभास सिर्फ उन्ही को होता है जो इस स्थिति से गुजरते हैं। प्रेम के साथ-साथ इसमें आपको बहुत कुछ सीखने को मिलता है। कुछ लोग तो प्यार से नफ़रत ही करने लगते हैं। आज मैं आपके लिए तीन ऐसी ही Hamari Adhuri Kahani लेकर aayaa हूँ …

Hamari Adhuri Kahani – तीन कहानियां Read More »

मां की बद्दुआओं ने कुछ ऐसा असर दिखाया कि सब कुछ सर्वनाश हो गया

मां की बद्दुआओं ने कुछ ऐसा असर दिखाया कि सब कुछ सर्वनाश हो गया

जून की तपती दोपहरी में लगभग 60 साल की एक बूढ़ी महिला अपने सिर पर बोझा लिए आ रही थी। हाथ पैर डगमगा रहे थे लेकिन उसकी हिम्मत बिल्कुल भी नहीं डगमगा रही थी। वह लगातार आगे की तरफ कदम बढ़ाए जा रही थी। आखिरकार उस बूढ़ी महिला को अपनी मंजिल मिल ही गई। वह …

मां की बद्दुआओं ने कुछ ऐसा असर दिखाया कि सब कुछ सर्वनाश हो गया Read More »

बाप के सामने बेटा मरता रहा किन्तु बाप आंसू बहाने के शिवा कुछ नहीं कर सका, एक सच्ची कहानी

बाप के सामने बेटा मरता रहा किन्तु बाप आंसू बहाने के शिवा कुछ नहीं कर सका, एक सच्ची कहानी

नमस्कार सर, मेरा नाम नूपुर सिंह चौहान है। आज मैं आप के इस मंच के द्वारा एक सच्ची घटना शेयर करना चाहतीं हूँ। आशा करतीं हूँ आपको और पाठकों को भी काफी अच्छी लगेगी। इंसान पर जब कोई जानवर या इंसान वार करता है तो उसका जवाब वह आसानी से किसी डंडे या अन्य चीज …

बाप के सामने बेटा मरता रहा किन्तु बाप आंसू बहाने के शिवा कुछ नहीं कर सका, एक सच्ची कहानी Read More »

Scroll to Top