Truth Manthan

एक भिखारी ने बचाई थी रेप से पीड़ित लड़की की जान, 6 साल बाद ऐसे चुकाया उस लड़की ने एहसान ( A Beggar Saved the Life of A Girl Suffering From Rape, 6 Years After the Girl Gaid the Favor )

Spread the love

रघुराज वर्मा उत्तर प्रदेश के शहर मुरादाबाद का रहने वाला था। उसके परिवार में किसी प्रकार की कमी नहीं थी। एक हंसता खेलता परिवार था। लेकिन एक घटना ने रघुराज वर्मा के परिवार को पूरी तरह से हिला कर रख दिया था। हुआ यह था कि सन 2014 में कुछ दबंग लोगों ने रघुराज वर्मा के परिवार के सभी सदस्य माता-पिता सहित को मौत के घाट उतार दिया और घर को पूरी तरह से लूट लिया था। रघुराज वर्मा उस दिन घर पर नहीं था। इसलिए वह बच गया लेकिन बचने के बावजूद भी उसकी हालत मरने वालों से भी बदतर थी।

वह एक साल तक कोर्ट कचहरी के चक्कर काटता रहा लेकिन उसे किसी तरह का इंसाफ नहीं मिला। उसके पास जो भी पूंजी थी। उसने अपने परिवार को इंसाफ दिलाने में खर्च कर दी। मगर उसको इंसाफ नहीं मिला। रघुराज वर्मा पढ़ा लिखा था। उसने नौकरी के लिए भी हाथ पैर मारे लेकिन कहीं से उसको कोई सहारा नहीं मिला। इतना ही नहीं मजदूरी के लिए भी लोगों ने उसको काम नहीं दिया। हारकर उसने भीख मांगना शुरू कर दिया। उसकी उम्र उस समय सिर्फ 25 वर्ष की थी। वह रोड पर सुबह पहुंच जाता लोगों की गालियां सुनता था। इसके एवज में उसे भीख में कुछ पैसे मिल जाते थे। जिससे उसका जीवन चल रहा था। रघुराज वर्मा का घर शहर से 5 किलोमीटर की दूरी पर था। वह सुबह शहर के लिए निकल जाता और रात में घर वापस लौटता था। धीरे-धीरे रघुराज वर्मा रघु हो गया था क्योंकि उसकी पहचान अब एक भिखारी के रूप में हो रही थी।

एक दिन रघु शहर से अपने गांव आ रहा था। उस दिन उसे भीख में काफी अच्छे रुपए मिल गए थे। इसलिए वह काफी खुश था। वह मन ही मन में गुनगुनाता हुआ अपने गांव जा रहा था। शहर से लगभग दो से ढाई किलोमीटर दूर जब वह पहुंचा तो उसे पास ही किसी के हल्के से रोने की आवाज सुनाई दी। हालांकि आवाज साफ नहीं आ रही थी। रघु ने इधर-उधर देखा मगर उसे कोई दिखाई नहीं दिया। वह फिर आगे बढ़ने ही वाला था कि एक बार वही आवाज फिर उसे सुनाई दी। रघु उसी आवाज की तरफ गया। सड़क से लगभग 100 मीटर की दूरी पर जब रघु पहुंचा तो उसने कुछ ऐसा देखा की उसकी घिग्घी बंध गई। वह चीखने के बाद भी नहीं चीख पा रहा था।

रघु ने दृश्य ही ऐसा देखा था। लगभग एक 18 साल की लड़की उस झाड़ियों जैसी जगह में बंधी पड़ी थी। उसका शरीर खून से लथपथ था। बदन पर एक भी वस्त्र नहीं था। उसमें बहुत कम जान बची हुई थी। रघु भी यह नहीं समझ पा रहा था कि क्या किया जाए। उसने काफी दिमाग लगाया लेकिन वह सोच नहीं पा रहा था। रात का 10 बज गया था। रास्ता भी पूरी तरह से सन्नाटे में बदल चुका था। इसके बाद उसने जब उस लड़की की हालत देखी तो उससे रहा नहीं गया। वह लड़की बार-बार होश में आती और बेहोश हो जाती थी। जब उसे होश आता तब वह हल्की सी आवाज में बचाओ बचाओ कर के चीखती थी।

रघु ने अपने मन में सोचा कि यह अब ज्यादा सोचने का समय नहीं है। इसलिए रघु ने उस लड़की को पहले तो अपनी फटी और गंदी चादर पूरी तरह से ढका और इसके बाद उसने पूरी ताकत से उस लड़की को उठाकर अपने कंधों पर डाल लिया। रघु लंबे-लंबे कदम भरते हुए फिर शहर की तरफ भागा। लड़की अब पूरी तरफ से बेहोश हो गई थी। रघु के अंदर किसी तरह का डर नहीं था। वह भागता हुआ अस्पताल जा पहुंचा।

अस्पताल में डॉक्टरों ने जब उससे पूछताछ की तो उसने सारा सच बता दिया। इसके बाद डॉक्टरों ने उस लड़की को भर्ती किया। पुलिस को सूचना दी गई और इलाज शुरू किया गया। रघु को पूछताछ के लिए थाने ले जाया गया। उस पर उल्टे आरोप भी लगाया जा रहा था। इतना ही नहीं पुलिस वालों द्वारा उसकी पिटाई भी की गई। लेकिन रघु जो सच था वही बोलता रहा। अप सबको उम्मीद थी कि जब लड़की को होश आयेगा तभी पूरा सच सामने आएगा। 3 दिनों तक वह लड़की अस्पताल में भर्ती रही। पुलिस उसके माता-पिता की खोज करती रही लेकिन पुलिस उसके माता-पिता को नहीं खोज पाई। तीसरे दिन उस लड़की को होश आया और उसने पुलिस वालों को जो बताया वह काफी होश उड़ा देने वाला था।

उस लड़के ने अपना नाम अंकिता दीक्षित बताया। उसने कहा उस दिन मैं अपनी कोचिंग क्लास से अपने घर जा रही थी। अचानक रास्ते में कुछ लोगों ने मुझे जबरदस्ती एक गाड़ी में खींच लिया। गाड़ी में बिठाते उन लोगों ने मेरे मुंह पर पट्टी बांध दी। ताकि मैं शोर न मचा सकूं। लगभग 30 मिनट तक गाड़ी चलती रही। इसके बाद उन लोगों ने एक सुनसान जगह पर गाड़ी को रोका और बारी बारी से मेरे साथ रेप किया। मैं लाख कोशिश करने के बाद भी चिल्ला नहीं सकती थी। इसके बाद उन लोगों ने मुझे फिर गाड़ी में डाला और एक सुनसान जगह पर फेक दिया। मुझे पता नहीं मैं कितनी देर तक वहां पड़ी रही लेकिन जब मुझे होश आया तब मैं चिल्लाई। उसके बाद उस देवता जैसे इंसान में मुझे यहां तक पहुंचा।

जब वो मुझे यहां आ रहा था उस समय मैं होश में आते थीं और फिर बेहोश हो जाती थी लेकिन उस आदमी को मैं कभी नहीं भूल सकती। जिसने मेरी जान बचाई। पुलिस ने जब उन लोगों के बारे में पूछा, जिन लोगों ने उसके साथ रेप किया था तो अंकिता ने बताया कि उन लोगों ने अपने मुंह को ढक रखा था। इसलिए मैं किसी को पहचान नहीं सकी। इसके बाद पुलिस ने अंकिता के घर बालों को बुलाया अंकिता अपने मम्मी पापा से मिलकर खूब रोई लेकिन वह उस इंसान से मिलना चाहती थी जिसने उसकी जान बचाई थी। पुलिस वालों ने रघु को लाकर जब अंकिता के सामने खड़ा किया तो उसके होश उड़ गए। वह तो एक भिखारी था। उसके कपड़े फटे हुए थे। बदन भी मैला कुचैला था। एक बार तो अंकिता ने मन ही मन में उससे नफरत की लेकिन जब उसके सामने वह दृश्य आए तो वह चीख कर रघु से लिपट गई। 2 दिन के बाद अंकिता को अस्पताल से छुट्टी मिल गई और रघु भी अपने काम में लग गया।

मार्च 2020 में रघु चौराहे पर खड़ा भीख मांग रहा था। उसकी हालत अब और भी खराब हो गई थी। शक्ल से देखने पर उसे पहचानना बहुत मुश्किल था। उसकी किस्मत में शायद यही लिखा था यही आप सोचेंगे। इंसान यही भूल जाता है कि उसकी किस्मत सिर्फ उसके कर्मों से लिखी जाती है और यही हाल रघु के साथ होने जा रहा था। जो इंसान बुरे कर्म करता है उसके साथ बुरा होता है और जो इंसान अच्छे कर्म करता है उसके साथ सदैव अच्छा होता है। यह प्रकृति का नियम है। किस्मत इंसान के कर्म से बदलती है और जो इंसान अपने कर्म के भरोसे बैठा रहता है उसे वही मिलता है जो उसकी किस्मत में होता है अर्थात गरीबी और जो कुछ आगे बढ़कर करता है उसे वह मिलता है जिसकी वह चाहत रखता है।

रघु लगभग 31 साल का हो चुका था लेकिन उसकी उम्र देखने में 50 साल के व्यक्ति जैसी लगती थी। उस दिन रघु जब चौराहे पर भीख मांग रहा था तभी एक कार आई और उसके पास आकर रुक गई। उसमें दो आदमी बैठे हुए थे। उन लोगों ने रघु को कार में बिठाया और कार रोड पर दौड़ने लगी। लगभग आधा घंटा के बाद का एक बहुत बड़े से मकान में जाकर रुकी। उन लोगों ने रघु से अंदर चलने के लिए कहा है। लेकिन वहां की साफ सफाई और उस हवेली जैसे मकान को देखकर रघु की अंदर जाने की हिम्मत नहीं हो रही थी। उन दो लोगों ने उसको अंदर चलने के लिए कहा तो वह डर-डर कर अंदर चला गया।

अंदर जाकर उसने देखा कि एक खूबसूरत महिला बैठी है। उस महिला ने रघु को देखते ही अपने गले से लगा लिया। रघु कुछ समझ नहीं पा रहा था। उसके साथ यह सब क्या हो रहा है ? उस महिला ने कहा रघु क्या तुम मुझे नहीं पहचानते ? रघु ने ना मैं अपनी गर्दन हिला दी। तब उस महिला ने रघु को बताया मैं वही लड़की हूं जिसकी तुमने 6 साल पहले जान बचाई थी। अब रघु को सब कुछ याद आ चुका था। सामने खड़ी महिला रो रही थी। उसकी आंखों से आंसू रुक नहीं रहे थे। उसको भावुक देखकर रघु भी अपने आंसुओं को नहीं रोक पाया।

वह महिला कोई और नहीं अंकिता थी। जिसका सन 2014 में रेप हुआ था और उसे झाड़ियों में फेंक दिया गया था। जिसे रघु ने बचाया था। अंकिता ने रघु को नहलवाया और सुंदर कपड़े दिए। अंकिता ने कहा रघु भैया आज के बाद तुम यही रहोगे। अब तुम्हें भीख मांगने की जरूरत नहीं है। तुम्हारी बहन तुम्हारी देखभाल करेंगी। रघु सिसक सिसक कर रो पड़ा। वह कभी खुद को देखता और कभी उस हवेली को देखता। उसे अब भी पूरी तरह से विश्वास नहीं हो पा रहा था।

अंकिता के माता पिता काफी पुराने ख्यालात के थे। उनका कहना था कि उस भिखारी को एहसान के रूप में कुछ रुपए दे दो। लेकिन अंकिता ऐसे इंसान को अपने सीने से लगा कर रखना चाहती थी। जिसने उसे नई जिंदगी दी थी। अंकिता एक बहुत बड़े बिजनेसमैन की पत्नी बन चुकी थी।

अंकिता और रघु घर में रहने लगे। रघु भी अंकिता के पति का बिजनेस में हाथ बंटाने लगा। अंकिता ने रघु की शादी करा दी। अब रघु अपनी पत्नी के साथ अंकिता के साथ रहता है और अंकिता के पति के बिजनेस में हाथ बंटाता है। अब रघु को वह सारी खुशियां मिल चुकी थी। जिन्हें कभी उससे छीन लिया गया था। रघु और अंकिता अब साथ-साथ रहते हैं और सभी मिलकर साथ साथ ही खाना खाते हैं।

रघु अंकिता के परिवार का हिस्सा बन चुका है। हालाकी अंकिता के मां-बाप आज भी रघु को पसंद नहीं करते हैं लेकिन अंकिता रघु को अपना भाई मानती है। अंकिता ने सारी उम्र अपने साथ उसे रखने का वादा किया है। अंकिता ने उसे सारी खुशियां देने का वचन निभाया है। आज रघु बहुत खुश है। अंकिता इसलिए खुश है क्यों वह ऐसे भाई के साथ रहती है जो उसके लिए भगवान जैसा है। अंकिता का पति भी रघु को बहुत पसंद करता है। इसलिए अब रघु की जिंदगी में किसी चीज की कमी नहीं है। अब रघु पुनः रघु से रघुराज वर्मा बन गया है।

Dinesh Kashyap

236/C Ramesh Nagar, New Delhi

यदि आपके पास हिंदी में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी ईमेल आई डी है: [email protected]. पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित करेंगे. धन्यवाद!


Spread the love

265 thoughts on “एक भिखारी ने बचाई थी रेप से पीड़ित लड़की की जान, 6 साल बाद ऐसे चुकाया उस लड़की ने एहसान ( A Beggar Saved the Life of A Girl Suffering From Rape, 6 Years After the Girl Gaid the Favor )”

  1. Another thing I’ve really noticed is that often for many people, less-than-perfect credit is the reaction to circumstances over and above their control. For instance they may be really saddled with an illness and as a consequence they have excessive bills going to collections. It would be due to a employment loss and the inability to go to work. Sometimes divorce process can truly send the funds in a downward direction. Thanks for sharing your thinking on this weblog.

  2. Hi, I do believe this is a great web site.
    I stumbledupon it 😉 I am going to come back yet again since i have bookmarked it.

    Money and freedom is the greatest way to change, may
    you be rich and continue to guide other people.

  3. This is a really good tip particularly to those new to the blogosphere.
    Brief but very accurate information… Thank you for sharing this one.
    A must read article!

  4. It is the best time to make some plans for the long run and it’s time to be happy.
    I have learn this submit and if I could I want to recommend
    you few interesting things or advice. Perhaps you could write next articles
    referring to this article. I want to read more things approximately it!

  5. Greetings from California! I’m bored to tears at work so I decided to browse your site on my iphone during lunch break.
    I love the information you provide here and can’t wait to take
    a look when I get home. I’m amazed at how quick your blog loaded on my cell phone ..
    I’m not even using WIFI, just 3G .. Anyways, great site!

  6. Pingback: keto quesadilla
  7. It is perfect time to make some plans for the future and it is time to be happy.
    I’ve read this post and if I could I desire to suggest you few interesting things or tips.
    Maybe you could write next articles referring to this article.
    I wish to read even more things about it!

  8. I have seen that costs for internet degree professionals tend to be an excellent value. Like a full College Degree in Communication from The University of Phoenix Online consists of 60 credits with $515/credit or $30,900. Also American Intercontinental University Online provides a Bachelors of Business Administration with a total program requirement of 180 units and a tariff of $30,560. Online studying has made taking your certification far more easy because you might earn your degree from the comfort of your house and when you finish from office. Thanks for all other tips I have really learned from your web site.

  9. I blog often and I genuinely appreciate your content.
    This great article has truly peaked my interest. I am going to book mark your
    website and keep checking for new information about once
    a week. I opted in for your Feed as well.

  10. Hey! Someone in my Facebook group shared this site with us so I came
    to take a look. I’m definitely loving the information. I’m bookmarking and will be tweeting this to
    my followers! Great blog and terrific style and design.

  11. Hi! I’ve been reading your weblog for some time now and finally got
    the courage to go ahead and give you a shout out from
    New Caney Texas! Just wanted to say keep up the great job!

  12. I’ll right away seize your rss feed as I can not in finding your email subscription hyperlink or
    newsletter service. Do you’ve any? Please permit me recognise in order that I may just subscribe.
    Thanks.

  13. I’ll right away seize your rss as I can’t
    to find your email subscription link or e-newsletter service.
    Do you have any? Please let me know so that I could subscribe.

    Thanks.

  14. Hello, i think that i noticed you visited my website thus i came to
    return the want?.I’m trying to in finding things to enhance
    my site!I suppose its ok to use a few of your ideas!!

  15. Hi, I do believe this is an excellent website.
    I stumbledupon it 😉 I will return once again since i have bookmarked it.

    Money and freedom is the best way to change, may
    you be rich and continue to guide others.

  16. Please let me know if you’re looking for a author for your blog.
    You have some really great articles and I feel I would be a
    good asset. If you ever want to take some of the load off,
    I’d really like to write some material for your blog
    in exchange for a link back to mine. Please send me an e-mail if
    interested. Many thanks!

  17. I have been browsing online more than 2 hours today, yet I never found
    any interesting article like yours. It is pretty worth enough for me.
    In my view, if all website owners and bloggers made good content as you did, the internet
    will be a lot more useful than ever before.

  18. That is really attention-grabbing, You’re an overly skilled blogger.

    I have joined your feed and look forward to looking for extra of your fantastic post.

    Also, I’ve shared your web site in my social networks

  19. Hello! I understand this is kind of off-topic however I had to ask.
    Does operating a well-established blog such
    as yours take a large amount of work? I am brand new to running a blog however I do
    write in my journal daily. I’d like to start a blog so
    I can share my own experience and thoughts online.
    Please let me know if you have any ideas or tips for brand new aspiring blog owners.
    Appreciate it!

  20. It is the best time to make some plans for the future and it’s time to be happy.

    I’ve read this post and if I could I wish
    to suggest you few interesting things or advice.
    Maybe you can write next articles referring to this article.

    I wish to read even more things about it!

  21. Just desire to say your article is as astounding. The clearness for your put up is simply cool and i could assume you are
    a professional on this subject. Well together with your permission allow me to grab your RSS feed
    to keep up to date with forthcoming post. Thank you a million and
    please carry on the enjoyable work.

  22. Fantastic goods from you, man. I have understand your stuff previous to and you’re just
    too magnificent. I actually like what you have acquired here, certainly like what you’re saying and the
    way in which you say it. You make it enjoyable and you still care for to
    keep it smart. I cant wait to read far more from you.
    This is really a tremendous site.

  23. I am really impressed with your writing skills and also with the layout on your blog.
    Is this a paid theme or did you modify it yourself?
    Anyway keep up the excellent quality writing,
    it’s rare to see a great blog like this one these days.

  24. I will right away grasp your rss as I can not to find your
    e-mail subscription link or e-newsletter service. Do you’ve any?

    Kindly allow me recognize so that I could subscribe. Thanks.

  25. “I haven’t seen you in these parts,” the barkeep said, sidling over to where I sat. “Personage’s Bao.” He stated it exuberantly, as if low-down of his exploits were shared by way of settlers around many a verve in Aeternum.

    He waved to a unanimated tun upset us, and I returned his gesture with a nod. He filled a telescope and slid it to me across the stained red wood of the court first continuing.

    “As a betting houseman, I’d be ready to wager a above-board speck of enrich oneself you’re in Ebonscale Reach on the side of more than the drink and sights,” he said, eyes glancing from the sword sheathed on my cool to the salaam slung across my back.

    http://maps.google.com.cu/url?q=https://renewworld.ru/

  26. Howdy, i read your blog occasionally and
    i own a similar one and i was just curious if you get a lot of spam feedback?

    If so how do you reduce it, any plugin or anything you can suggest?
    I get so much lately it’s driving me mad so any support is very
    much appreciated. scoliosis surgery https://0401mm.tumblr.com/ scoliosis surgery

  27. I really like your blog.. very nice colors & theme.
    Did you create this website yourself or did
    you hire someone to do it for you? Plz answer back as I’m looking to construct my own blog and would like
    to find out where u got this from. appreciate it cheap flights http://1704milesapart.tumblr.com/ cheap flights

  28. It is the best time to make some plans for the long run and it
    is time to be happy. I have learn this post and if I may
    just I want to recommend you some interesting things or tips.
    Maybe you could write next articles referring to this article.
    I desire to learn even more things about it!

  29. In accordance with my observation, after a in foreclosure home is offered at a bidding, it is common for your borrower in order to still have the remaining unpaid debt on the mortgage. There are many creditors who seek to have all fees and liens repaid by the upcoming buyer. Even so, depending on specific programs, restrictions, and state laws there may be some loans that are not easily settled through the shift of loans. Therefore, the obligation still rests on the borrower that has obtained his or her property in foreclosure. Many thanks for sharing your thinking on this weblog.

  30. Howdy, i read your blog occasionally and i own a similar
    one and i was just wondering if you get a lot of spam responses?

    If so how do you prevent it, any plugin or anything you can suggest?
    I get so much lately it’s driving me crazy so any support is very much appreciated.

  31. Its such as you read my mind! You seem to
    know so much approximately this, such as you wrote the e-book in it or
    something. I believe that you just can do with a few p.c.
    to force the message house a little bit, but other than that, that is fantastic blog.
    A great read. I’ll definitely be back.

  32. Hi there would you mind letting me know which hosting company you’re utilizing?
    I’ve loaded your blog in 3 completely different browsers and I must
    say this blog loads a lot faster then most. Can you suggest a good
    internet hosting provider at a honest price? Thank you, I appreciate it!

Leave a Comment