Truth Manthan

वीरांगना : आज के युग की ऐसी 1 लड़की जिसने दरिंदों को मुंह तोड़ जवाब दिया

Spread the love

वीरांगना पुराने समय में ही नहीं आज के समय में भी आपको देखने को मिल जाएंगी। आज मैं आपको एक ऐसे ही वीरांगना के बारे में बताने जा रहा हूं जिसके बारे में जानते ही आप पूरी तरह से उस दुनिया को नफरत करने लगेंगे जहां पर पाप का सैलाब आता है। आज मैं उस वीरांगना की कहानी सुनाने जा रहा हूं जिसने ऐसा युद्ध लड़ा जिसके लिए शायद किसी तलवार की जरूरत नहीं पड़ी और एक ऐसे भवर में उलझी जिस से निकलना उसके लिए मुश्किल हो गया।

यह सिर्फ एक वीरांगना की कहानी नहीं है यह कहानी है आज के उसूलों की, आज की मर्यादाओं की, आज के समय के विचारों की आज के समय हो रहे अत्याचारों की, आज के समय जो गलत काम हो रहे उनके प्रति आवाज उठाने वालों की, ऐसी ही एक कहानी मैं आपको बताने जा रहा हूं। जिस ने आवाज उठाई तो उसको इतना बड़ा हर्जाना भरना पड़ा जिसकी कल्पना करना भी मुश्किल है।

वीरांगना एक ऐसा नाम है जिसमें लड़कर शहीद होना माना जाता है लेकिन आज के समय लड़ने वाले कम है और धोखे से नोचने और खाने वाले ज्यादा हो चुके हैं। मैं खासकर इसी मुद्दे पर आज बात करूंगा और उस वीरांगना के बारे में बताऊंगा जिसने ऐसे लोगों से टक्कर ली जिनसे अच्छे-अच्छे लोगों को पसीने आते थे।

वीरांगना की कहानी

उत्तर प्रदेश के जौनपुर की यह घटना आपको काफी परेशान कर सकती है। उस लड़की का नाम आरती था। बचपन में पढ़ने के लिए उसके पास किताबें नहीं थी लेकिन इसके बावजूद भी उसने एलएलबी तक पढ़ाई की एलएलबी पूरी होने के बाद उसने पैसा बटोरने के बारे में नहीं सोचा बल्कि उन लोगों की मदद करने के बारे में सोचा जिनका अक्सर दुनिया में कोई सहारा नहीं बनता। ऐसे लोगों के प्रति आरती अपने जी जान लगा देती थी।

आरती मजलूम गरीब और बेसहारा लोगों की मदद करती थी लेकिन उसकी किस्मत में एक ऐसा मोड़ भी आया जिसने उसकी जिंदगी को तबाह कर के रख दिया। ऐसा क्या हुआ था आरती के साथ। आइए विस्तार से जानते हैं।

उस समय आरती रिया नाम की एक लड़की की मदद कर रही थी जिसके साथ सामूहिक रूप से कुछ दबंगों ने रेप किया था। इससे जौनपुर सहित पूरे उत्तर प्रदेश में भूचाल आ गया था और रेप करने वाले दरिंदे इतने ताकतवर थे कि उनके खिलाफ हजारों वकीलों की फौज भी नतमस्तक हो चुकी थी जो भी रिया का केस लेने की कोशिश करता उसके या तो हाथ पैर तुड़वा दिए जाते हैं या फिर उसे जिंदा ही जमीन में दफना दिया जाता।

ऐसे में गवाह नहीं मिलते क्योंकि गवाही देना मौत के मुंह में जाने के बराबर था। रिया दरबदर भटकती रही लेकिन उसका कोई सहारा नहीं बना। उसके माता-पिता गरीब किसान थे। रिया एक खूबसूरत लड़की थी जो इंटर में पढ़ती थी। देखने में वह बहुत ही खूबसूरत थी। इसी का उन दरिंदों ने फायदा उठाया और उसके साथ रेप किया।

रिया गरीब जरूर थी लेकिन उसके इरादे बहुत ही मजबूत थे। उसे दर दर पर ठोकरें खाने को मिल रही थी लेकिन वह पीछे हटने का नाम नहीं ले रही थी। काफी लोगों ने पुलिस द्वारा भी उससे कहलवाया कि वह चुप बैठ जाए लेकिन रिया चुप बैठने वाली लड़कियों में नहीं थी।

वीरांगना

उसके माता-पिता ने भी उस को काफी समझाया की बेटी भूल जा उन सब बातों को जो तेरे साथ हुआ है लेकिन रिया ने कहा कि मैं ऐसी कल्पना भी नहीं कर सकतीं। आज मेरे साथ ऐसा हुआ है कल यह भेड़िए किसी दूसरी लड़की को अपना शिकार बनाएंगे। इसलिए जब तक मेरे शरीर में जान रहेगी इन दरिंदों को सजा दिलाकर रहूंगी। इतनी ताकतवर और इरादों की मजबूत होने के बाद भी रिया का साथ देने के लिए कोई भी सामने नहीं आया। रिया एक ऐसी जात से आती थी जिसे अछूत माना जाता है।

एक दिन रिया को आरती के बारे में पता चला तो वह आरती के घर चली गई। आरती ने जब रिया की पूरी कहानी सुनी तो वह रो पड़ी। उसने कहा अब तुम्हें डरने की जरूरत नहीं है। तुम्हारे केस को मैं लडूंगी।

इसके बाद वीरांगना की तरह आरती ने रिया के केस को अपने हाथ में ले लिया। काफी दबंगों ने आरती को परेशान करने की कोशिश भी की लेकिन आरती भी उन लड़कियों में नहीं थी जो मामूली गुंडों से डर जाती। आरती ने वीरांगना की तरह जमकर रिया का केस लड़ा और उन गुंडों को अदालत के सामने नंगा करके रख दिया। जितने भी सबूत थे आरती ने इकट्ठे किए और अदालत के सामने रखें।

आखिरकार उन दबंगों को सजा होने वाली थी। आरती भी वीरांगना की तरह लगातार सबूत जुटा रही थी। वह चाहती थी रिया को इंसाफ मिले। इसीलिए दिन रात रिया के केस को ही अध्ययन करती रहती थी। वह आखिरी दिन भी आ गया जब उन दरिंदों को सजा बोली जाने वाली थी।

जज साहब ने आरती की बात सुनी और इसके बाद उन दरिंदों के वकील की भी बात सुनी। इसके उपरांत केस रिजर्व कर दिया और कहां फैसला 3 दिन बाद सुनाया जाएगा। रिया का पूरा काम हो चुका था। आरती भी बहुत खुश थी लेकिन अगली रात ही आरती को किसी ने मार दिया।

आरती इस दुनिया में नहीं थी वह एक वीरांगना की तरह लड़ी थी, जब जज साहब ने फैसला सुनाया तो उन सभी दरिंदों को फांसी की सजा सुनाई गई। रिया बहुत दुखी थी लेकिन उसके अंदर अब और भी ताकत आ गई थी क्योंकि वह आरती जैसी लड़की के साथ रह चुकी थी। उसे इंसाफ मिला और दरिंदों को फांसी पर टांग दिया गया।

इसके बाद रिया ने भी ठान लिया कि वह भी आरती की तरह निडर बनेगी और उन लोगो की मदद करेगी जिनकी डर के कारण लोग मदद नहीं करते। एक वीरांगना के मरने के बाद दूसरी वीरांगना तैयार हो चुकी थी.

लेखक 

आर के गौतम 

यदि आपके पास हिंदी में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी ईमेल आई डी है: [email protected] पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित करेंगे. धन्यवाद!


Spread the love

457 thoughts on “वीरांगना : आज के युग की ऐसी 1 लड़की जिसने दरिंदों को मुंह तोड़ जवाब दिया”

  1. Its good as your other posts : D, thankyou for putting up. “As experience widens, one begins to see how much upon a level all human things are.” by Joseph Farrell.

  2. Pingback: keto basics
  3. Howdy, I think your blog might be having web browser compatibility
    issues. When I take a look at your blog in Safari, it looks fine however, when opening in I.E., it’s got some overlapping issues.
    I simply wanted to give you a quick heads up! Apart from that, fantastic website!

  4. I got this web site from my pal who told me concerning this web site
    and at the moment this time I am visiting this website and reading very informative articles at
    this time.

  5. you are truly a good webmaster. The web site loading
    pace is amazing. It seems that you are doing any distinctive trick.
    Moreover, The contents are masterpiece. you have done a magnificent task on this
    subject!

  6. Thanks for your personal marvelous posting! I definitely enjoyed reading
    it, you may be a great author. I will make certain to bookmark your blog and will eventually come
    back sometime soon. I want to encourage that you
    continue your great posts, have a nice evening!

  7. It is perfect time to make some plans for the future and it’s time to be happy.
    I have read this post and if I could I wish to suggest you some interesting things or advice.

    Maybe you can write next articles referring to this article.

    I desire to read more things about it!

  8. Please let me know if you’re looking for a
    article writer for your blog. You have some really great posts and
    I think I would be a good asset. If you ever want to take some
    of the load off, I’d love to write some articles for
    your blog in exchange for a link back to mine. Please blast me an email if interested.
    Thanks!

  9. I pay a visit day-to-day a few web pages and information sites to read articles or reviews, except this
    weblog gives feature based content.

  10. “I haven’t seen you in these parts,” the barkeep said, sidling over to where I sat. “Designation’s Bao.” He stated it exuberantly, as if solemn word of honour of his exploits were shared by settlers about multitudinous a ‚lan in Aeternum.

    He waved to a unimpassioned tun upset us, and I returned his gesture with a nod. He filled a eyeglasses and slid it to me across the stained red wood of the excluding prior to continuing.

    “As a betting man, I’d be ready to wager a adequate piece of enrich oneself you’re in Ebonscale Reach in search more than the drink and sights,” he said, eyes glancing from the sword sheathed on my cool to the bow slung across my back.

    http://maps.google.co.nz/url?q=https://renewworld.ru/new-world-kak-popast-na-alfa-i-beta-testy/

  11. Hello would you mind letting me know which hosting company
    you’re using? I’ve loaded your blog in 3 completely different browsers and I must say this blog loads a lot quicker then most.
    Can you suggest a good web hosting provider at a reasonable price?
    Kudos, I appreciate it!

  12. hello there and thank you for your info – I’ve definitely picked up something new
    from right here. I did however expertise several technical points using
    this website, since I experienced to reload the website a lot of times previous to I could
    get it to load correctly. I had been wondering if your hosting is OK?
    Not that I’m complaining, but sluggish loading instances times
    will very frequently affect your placement in google and can damage your high-quality score if ads and marketing with Adwords.
    Anyway I’m adding this RSS to my e-mail and can look out for much more of your respective interesting content.
    Make sure you update this again soon.

  13. When I originally left a comment I seem to have clicked
    the -Notify me when new comments are added- checkbox and now every time
    a comment is added I get four emails with the same
    comment. Is there a means you can remove me from that service?
    Appreciate it! ps4 games https://bit.ly/3nkdKIi ps4

Leave a Comment