Truth Manthan

गरीब: ये 2 कहानियाँ आपको अमीर बना सकतीं हैं

Spread the love

गरीब: धीरूभाई अंबानी पेट्रोल पंप पे काम करते थे और महीने में एक बार 5 स्टार होटल में चाय पीने जाते थे जंहा उस समय एक चाय 50 रुपये का मिलता था, एक बार किसी ने उनसे पूछा कि आप ये चाय 50 पैसे में बाहर भी पी सकते है फिर 50 खर्च करने की वजह, तब धीरूभाई ने जवाब दिया था कि मै चाय पीने यहाँ नही आता बल्कि ये देखने आता हूं कि अमीर लोग कैसे व्यवहार करते है उनकी स्टाइल मैं कॉपी करने आता हूं। ये घटना ये बताती है कि जो अमीर बनना चाहते है वो अमीरों की तरह सोचते है इसलिए वो अमीर है।

गरीब अमीर बनना नहीं चाहते 

एक दूसरी कहानी, एकबार नारद जी ने विष्णु भगवान से शिकायत की कि प्रभु पृथ्वी पर बहुत से Poor लोग है क्या आपको उनपर दया नही आती तब विष्णु भगवान ने कहा मैं क्या करूँ ये गरीब ही रहना चाहते है।

नारद बोले मैं नही मानता कि कोई Poor रहना पसंद करेगा। मैं एक बार कोशिश करके देखना चाहता हूँ। भगवान बोले ठीक है जाओ कर लो कोशिश। नारद पृथ्वी पर आए और एक भिखमंगे से बोले तुमको खजाना देने आया हूँ, लोगे? भिखमंगे ने 50 गाली दी और बोला सुबह से बैठा है 10 रुपये भी नही मिला और तुम खजाने की बात करके मेरा मजाक उड़ा रहे हो।

भाग जाओ, नारद आगे बढ़े एक बूढ़े से मिले और बोले मैं तुमको खजाना देने आया हूँ। लोगे? बूढ़े ने 4-5 लाठियां बरसाई नारद पर और चिल्लाया जिन्दगी गुजर गई आज तक ठीक से भोजन नही मिला और तुम खजाने की बात करते हो भागो यहां से, नारद ऐसे कई गरीब लाचार के पास गए सबने उनको भगा दिया निराश होकर नारद विष्णु भगवान के पास पहुचे बोले आप सही थे ये सब गरीब ही रहना चाहते है।

कहानी से अभिप्राय है की गरीब इसलिए गरीब है क्योंकि वो गरीबी ही सोचता है। अमीर और गरीब में अंतर यही है सोच का।इसलिए इतना अंतर है।

गरीब

दया शंकर गुप्ता

छात्र इलाहाबाद विश्वविद्यालय, यूपी

यदि आपके पास हिंदी में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी ईमेल आई डी है: [email protected] पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ प्रकाशित करेंगे. धन्यवाद!


Spread the love

4 thoughts on “गरीब: ये 2 कहानियाँ आपको अमीर बना सकतीं हैं”

Leave a Comment